राजस्थान में पिछले कुछ दिनों से जारी रस्सकसी के बीच सचिन पायलट को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और डिप्टी सीएम के पद से हटा दिया गया है. सचिन पायलट की जगह प्रदेश कांग्रेस की कमान एक ऐसे नेता को दी गई है जिसने पंचायत चुनाव से लेकर प्रदेश सरकार में मंत्री तक का सफर तय किया है और अब वो राजस्थान प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष बनाए गए हैं. इनका नाम है गोविंद सिंह डोटासरा.

Interview with Govind Singh Dotasara ( गोविन्द सिंह ...

जाट समुदाय से आते हैं गोविंद सिंह

गोविंद सिंह डोटासरा जाट समुदाय से आते हैं. राजस्थान में जाट समुदाय को भाजपा का कैडर वोट माना जाता है लेकिन तीन बार में लगातार विधायक बनते आ रहे डोटासरा इन दिनां गहलोत सरकार में शिक्षा मंत्री हैं. डोटासरा की राज्य के जाट समुदाय पर लगातार पकड़ मजबूत होती जा रही है जो कि भाजपा के लिए चुनौती और मुसीबत दोनों बन सकते हैं. जाट समुदाय राजस्थान की राजनीति में बेहद महत्वूर्ण रोल अदा करता है.

पंचायत चुनाव से की शुरुआत

मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने ...

गोविंद सिंह डोटासरा का जन्म 01 अक्टूबर 1964 को लक्ष्मणगढ़ के कृपाराम जी की ढाणी गांव में हुआ. इनके पिता श्री मोहन सिंह एक सरकारी स्कूल में शिक्षक थें. डोटासरा की शिक्षा दीक्षा राजस्थान विश्वविद्यालय से हुई जहां से इन्होंने वाणिज्य में स्नातक और फिर कानून की डिग्री हासिल की. 2005 में डोटासरा ने पंचायत समिति सदस्य का चुनाव लड़ा और जीत कर अपने लक्ष्मणगढ़ पंचायत के अध्यक्ष चुने गए. इसके बाद फिर इन्होंने मुड़ कर पीछे नहीं देखा.

जिलाध्यक्ष भी रह चुके हैं कांग्रेस के

गोविन्द सिंह डोटासरा के प्रदेश ...

डोटासरा की जमीनी पकड़ का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि ये 07 साल तक जिला कांग्रेस कमिटी, सीकर के अध्यक्ष भी रह चुके हैं. लक्ष्मणगढ़ विधानसभा सीट से ये हैट्रिक लगा चुके हैं. 2008 में पहली बार महज 34 वोट से विधानसभा का सफर तय करने वाले गोविंद सिंह डोटासरा ने 2013 और 2018 के चुनाव में भी जीत का सिलसिला जारी रखा और आज वो प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष बनाए गए हैं.