राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के पार्टी छोड़ कर जाने की चर्चाओं के बीच कांग्रेस का पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का बड़ा बयान आ गया है. कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई के नेताओं को संबोधित करते हुए कहा कि जिसे जाना है, वो जाएगा ही. किसी को रोका नहीं जाएगा.

छात्र नेताओं का हौंसला बढ़ाते हुए राहुल गांधी ने कहा कि पार्टी छोड़ कर जाने वालों से जरा भी घबराने की जरुरत नहीं है, बल्कि ये जो भी हो रहा है, आप लोगों के लिए अच्छा हो रहा है. जो लोग पार्टी छोड़ कर जा रहे हैं, वो युवा पीढ़ी के लिए रास्ता साफ कर रहे हैं.

इस बयान को राहुल गांधी के कड़े रवैये के तौर पर भी देखा जा सकता है. एनएसयूआई की इस बैठक में राहुल गांधी के अलावा संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन और प्रभारी रुचि गुप्ता मौजूद रहीं.

राहुल गांधी के इस रुख को देखते हुए एक तरह से साफ हो गया है कि अब शायद सचिन पायलट के लिए कांग्रेस के दरवाजे बंद हो गए हैं. कांग्रेस अब सचिन और ज्योतिरादित्य जैसों की बजाय एनएसयूआई और यूथ कांग्रेस के नेताओं को ही आगे करने की रणनीति पर काम करना शुरु कर चुकी है.

कांग्रेस का इरादा साफ है कि पार्टी में सिर्फ ज्योतिरादित्य और सचिन जैसे लोग ही युवा नहीं हैं बल्कि लाखों की तादाद में युवा कार्यकर्ता कांग्रेस के लिए सड़कों पर संघर्ष कर रहा है. अब उन्हें ही आगे करने की जरुरत है.