मध्यप्रदेश में जिस तरह से कांग्रेस विधायकों के इस्तीफे हो रहे हैं, अब वैसे में 26 सीटों पर उपचुनाव होने की नौबत आ गई है. कमलनाथ सरकार के पतन के बाद फिलहाल मध्यप्रदेश में भाजपा की लंगड़ी सरकार चल रही है. शिवराज सिंह चौहान की यह सरकार कब गिर जाएगी, ये कोई नहीं जानता. शिवराज सरकार का पूरा भविष्य इन 26 विधानसभा सीटों के उपचुनावों पर टिका हुआ है.

Wild oats: Why can't Congress and BJP form an alliance?

एमपी कांग्रेस ने किया ट्वीट

मध्य प्रदेश कांग्रेस के आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से कुछ ट्वीट्स पिछले दिनों किए गए हैं जिनमें एक सर्वे का हवाला देते हुए बताया गया है कि मध्यप्रदेश में होने वाले विधानसभा उपचुनावों में कांग्रेस को 25 और भाजपा को सिर्फ 01 सीट आने जा रही है. एमपी कांग्रेस का साफ तौर पर कहना है कि विधानसभा उपचुनाव के लिए होने वाले सर्वे में भाजपा को सिर्फ 01 सीट आने जा रही है. यही वजह है कि भाजपा अब बौखलाहट में फिर से खरीद फरोख्त में जुटी हुई है.

Nation got 5 daughters in hope of son: Congress MLA in sexist dig ...

पूर्व मंत्री ने भी साधा निशाना

राउ विधानसभा सीट से कांग्रेस विधायक और पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा है कि मध्यप्रदेश में भाजपा को जो करना है कर लें. उपचुनाव की संख्या 24 कर ले, 25 कर ले या फिर 26 कर ले. जितना पाप करना है, शिवराज जी कर लो लेकिन जिस दिन भी उपचुनाव होगा, भाजपा के इस राजनीतिक पापों का अंत हो जाएगा. इसके साथ ही आने वाले 15 सालों तक जनता भाजपा को वोट नहीं देगी.

वहीं कांग्रेस का कहना है कि हारने वाले लोग सरकार बना रहे हैं और जो गैर विधायक हैं वो सरकार बना रहे हैं. ऐसे में चुनाव का औचित्य ही क्या बचा है, ये तो लोकतांत्रिक व्यवस्था का अपमान है. अब देखना यह है कि सर्वे में जो नतीजे दिखाए जा रहे हैं, असल नतीजे भी वैसे ही आते हैं या फिर उंट किसी और करवट बैठता है.