दिल्ली को दिल्ली बनाने वाली दिल्ली की तीन बार सीएम रहीं स्वर्गीय शीला दीक्षित जी की आज प्रथम पुण्यतिथि हैं. शीला दीक्षित ने जिस प्रकार से देश की राजधानी दिल्ली का अपने 15 साल के शासन में सजाया और संवारा, वो अपने आप में बेमिसाल है. दिल्ली में दिखता मेट्रो, फ्लाई ओवर्स का जाल, स्कूल, कॉलेज, अस्पताल जो दिखाई दे रहे हैं, वो सब शीला दीक्षित के करिश्माई नेतृत्व का कमाल था. शीला ने दिल्ली को बदलने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी लेकिन दिल्ली वालों ने अंतिम समय में शीला दीक्षित के साथ जो किया, उसे भी कोई नहीं भूला सकता.

CAA Protests: 18 metro stations open after demonstrations in Delhi ...

केजरीवाल रोज जेल भेजता था शीला दीक्षित को

दिल्ली का वर्तमान सीएम केजरीवाल, आम आदमी पार्टी ने आरएसएस के साथ अघोषित समझौते के तहत शीला दीक्षित के खिलाफ दुष्प्रचार किया. उनके खिलाफ 500 पन्नों की चार्जशीट दिखाकर उन्हें घोटालेबाज साबित करने में कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ी. केजरीवाल सीएम बनने के पूर्व रोज शीला दीक्षित को जेल भेजता था. एक साजिश के तहत आम आदमी पार्टी और भारतीय जनता पार्टी ने शीला दीक्षित को बदनाम किया और वो अपने मंसूबों में कामयाब भी रहें.

In first meeting after poll sweep, Kejriwal discusses Delhi's ...

मनोज तिवारी से हारी लोकसभा का चुनाव

दिल्ली वालों ने शीला दीक्षित के विकास कार्यों का ये अंजाम दिया कि वो अपनी जिंदगी का आखिरी चुनाव मनोज तिवारी जैसे महान नेता से हार गईं वो भी लाखों वोटों के अंतर से. अब चूंकि शीला दीक्षित की राजनीति विकास आधारित थी तो वो धूर्त राजनीति से निपट नहीं पाईं. शीला दीक्षित की सोच थी कि राजनीति में सफल होने का सिर्फ एक मंत्र है, काम किजिए और लोगों के दिलों को जीतिए, शायद राजनीति को समझने में चूक हो गई शीला दीक्षित से.

Manoj Tiwari - Wikipedia

आज झुनझुना है लोगों के पास

शीला दीक्षित ने दिल्ली को मेट्रो, फ्लाई ओवर्स, स्कूलों, कॉलेजों और अस्पताल आदि दिए और फिलहाल दिल्ली की जनता झुनझुना पाकर खुश है. देश की राजधानी के लोगों को बड़े अस्पतालों की जगह मोहल्ला क्लिनिक में ही चरम सुख की प्राप्ति हो रही है, तो अच्छी बात है. दिल्ली की तकदीर अब केजरीवाल और मनोज तिवारी जैसे लोगों के हाथों में हैं और दिल्ली की जनता खुश है तो इससे ज्यादा क्या चाहिए ? कांग्रेस की लाडली बेटी स्वर्गीय शीला दीक्षित जी की पुण्यतिथि पर ईश्वर से यही प्रार्थना करेंगे कि दिल्ली हमेशा खुश रहे. फले फूले और आगे बढ़े. बाकी केजरीवाल और मनोज तिवारी एक दिन राष्ट्र का नेतृत्व करें, यही मंगलकामना है.