कोरोना महामारी के दौर में सभी लोग परेशान है. युवा वर्ग विशेष तौर पर छात्र भी अपनी पढ़ाई की अनियमितता से संकट से गुजर रहे हैं. ऐसे कठिन दौर में अपने चुनावी वायदे को पूरा करते हुए पंजाब की कैप्टन कांग्रेस सरकार ने 12 अगस्त बुधवार से 12वीं के बच्चों को स्मार्टफोन बांटने की घोषणा कर दी है. जन्माष्टमी के शुभ अवसर पर इस स्मार्टफोन वितरण योजना का शुभारंभ होगा. कोविड 19 के प्रकोप को देखते हुए बेहद साधारण आयोजन के साथ इसकी शुरुआत हो जाएगी.

Captain Amarinder Singh to connect Punjab's youth with the world ...

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस मौके पर कहा है कि राज्य की कांग्रेस सरकार ने जो वायदे लोगों से किए थें, वो हम पूरा कर रहे हैं. सीएम अमरिंदर ने कहा कि कोविड के कठिनतम दौर में बच्चों तक ऑनलाइन पाठ्य सामग्री पहुंचने में दिक्कतें हो रही थी. अब घर घर स्मार्टफोन पहुंच जाने से बच्चों को काफी आसानी होगी.

कैप्टन अमरिंदर ने कहा कि यह सुखद संयोग है कि 12 अगस्त को श्रीकृष्ण जनमाष्टमी भी है और अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस भी है. पंजाब सीएम ने कुछ दिन पहले बताया था कि पहली खेप में 50 हजार स्मार्टफोन पंजाब सरकार के पास आ चुका है. शुरुआती चरण में 50 हजार स्मार्टफोन 12वीं के छात्र छात्राओं के बीच बांटे जाएंगे. कांग्रेस सरकार की योजना 1 लाख 78 हजार स्मार्टफोन बांटने की है.

बताते चलें कि अभी देश भर में कांग्रेस जहां बेहद बुरे दौर से गुजर रही है तो वहीं पंजाब में कांग्रेस की जड़ें बेहद मजबूत है. एक तो शिरोमणि अकाली दल का कुशासन और दूसरा भाजपा की मातृ संगठन आरएसएस के प्रति पंजाबी सिक्खों की घृणा, इसकी वजह से वहां कांग्रेस काफी मजबूत स्थिति में है. वहीं कैप्टन अमरिंदर सिंह की राज्य भर में काफी इज्जत भी है. वह अपने विकास कार्यों के लिए जाने जाते हैं. माना जा रहा है कि करीब पौने दो लाख स्मार्टफोन बंटने के बाद कांग्रेस की जड़ें इस राज्य में और भी ज्यादा मजबूत हो जाएंगी.