बिहार की राजनीति में ऐसा लगता है कि शब्दों की मर्यादा तेल लगाने चली गई है. विशेष तौर पर नीतीश कुमार के स्पेशल प्रवक्ताओं की बात कर लें तो ऐसा लगता है कि लाज शर्म हया सब कहीं जमीन में दफन कर दिया गया है. दिन रात, सोते बैठते उठते, दिन रात लालू लालू, राबड़ी राबड़ी, तेजस्वी, तेजप्रताप ही जपते रहते हैं, पर कभी वार उलटा भी पड़ जाता है.

 

नीरज का प्रहार

जदयू के कुछ प्रवक्ताओं की अपने शब्दों से बर्बर और असभ्य छवि बन चुकी है. ऐसे में ही एक प्रवक्ता हैं नीरज कुमार, जो बिहार सरकार में मंत्री भी हैं. उन्होंने ट्वीटर पर झारखंड के सीएम हेमंत सोरेने को टैग करते हुए, बिना लालू या तेजस्वी का नाम लिए हुए लिखा कि ये बाप बेटे बंगले के बड़े शौकीन हैं. दूसरों की संपत्तियों पर भी नजर टिकाए रहते हैं. मौका मिलते ही हाथ साफ कर देते हैं.

राजद नेता का जवाब

नीरज के इस ट्वीट का जवाब देते हुए राजद नेता अनिल कुमार साधु ने भी बिना किसी का नाम लिए हुए लिख दिया कि कभी उस बाप बेटे का नाम भी ले लिया किजिए जो पिता के कुकर्मों की वजह से हमेशा अपने पिता से नफरत करता है, उनसे दूर रहता है और दूरी भी इतनी कि सालों साल उनसे मिलने नहीं आता.

दोनों ने नहीं लिया बाप बेटे का नाम

जहां जदयू नेता नीरज कुमार ने अपने ट्वीट में बिना किसी का नाम लिए निशाना साधा तो वहीं राजद नेता अनिल कुमार साधु ने भी बिना किसी का नाम लिए प्रतिक्रिया दे दी. पर समझने वाले समझते हैं कि दोनों ने किस पर निशाना साधा. जदयू नेता के निशाने पर कौन से बाप बेटे हैं और राजद नेता के निशाने पर कौन से बाप बेटे हैं, ये बिहार की जनता अच्छे से समझती है.