राजस्थान से विपक्षी भारतीय जनता पार्टी के लिए बुरी खबर आ रही है. कांग्रेस ने राजस्थान में विश्वास प्रस्ताव पर जीत हासिल कर लिया है. 200 सदस्यों वाली राजस्थान विधानसभा में कांग्रेस के पक्ष में 123 विधायक उपस्थित रहें. सदन में उपस्थित सभी विधायकों ने हाथ खड़े करते हुए ध्वनिमत से कांग्रेस की सरकार के पक्ष में अपना विश्वास व्यक्त किया.
इसके साथ ही राज्य की कांग्रेस सरकार के उपर आया खतरा अब पूरी तरह से टल चुका है. अब राजस्थान में कांग्रेस की सरकार लगभग स्थिर हो चुकी है. वहीं विश्वासमत पारित होने के बाद राजस्थान विधानसभा को 21 अगस्त के लिए टाल दिया गया है.

वहीं कांग्रेस नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने इस मौके पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि राजस्थान की सरकार को डिगाने के लिए विपक्ष ने लाख प्रयास किया लेकिन इसके बावजूद हमारी सरकार बहुत अच्छे बहुमत के साथ जीत गई है.

वहीं सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि भाजपा ने यह तय किया हुआ है कि वो राजस्थान की सरकार गिरा कर रहेगी. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर पलटवार करते हुए गहलोत ने कहा कि उन्हें सपने में भी सरकारें ही दिखती है. आज जो दिल्ली में घमंड दिख रहा है, जनता कब उसे उल्टा कर देगी पता नहीं. अमित शाह को कांग्रेस का इतिहास पढ़ना चाहिए.