बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को गजब की बीमारी है. वह अपने विभागीय कामों की चर्चा करते हुए कम और राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव पर ज्यादा प्रहार करते हुए देखे जाते हैं. इसी बीच उन्होंने परिवारवाद को लेकर एक बयान दे दिया जिसके बाद राष्ट्रीय जनता दल, अति पिछड़ा प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव आनंद कुमार ठाकुर ने ऐसा जवाब दे दिया कि सबकी बोलती बंद हो गई है.

क्या कहा था सुशील मोदी ने

Why senior BJP leader Sushil Modi is under attack from his own partymen in Bihar

दरअसल सुशील कुमार मोदी ने कहा था कि बिहार में होने वाले विधानसभा चुनावों में एनडीए का सामना परंपरागत वंशवादी दलों से होने वाला है. वंशवादी दलों से मोदी का आशय राजद और कांग्रेस से था. सुशील मोदी ने राजद और कांग्रेस को पुत्रमोह वाली पार्टी बता दी थी, जिस पर राजद नेता आनंद कुमार ठाकुर ने भी उन्हें आईना दिखाते हुए लोजपा और अकाली दल का उदाहरण दे दिया. जाहिर है कि इसके बाद सुशील कुमार मोदी के पास कोई जवाब नहीं था.

आनंद ठाकुर का जवाब

सुशील मोदी के वंशवाद वाले बयान पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए आनंद कुमार ठाकुर ने कहा कि जिनके नाजायज रिश्ते रामविलास पासवान और प्रकाश सिंह बादल के घराने से हो, उन्हें दूसरों पर उंगली नहीं उठाना चाहिए. आनंद कुमार ठाकुर ने एनडीए की सहयोगी पार्टियों लोजपा और शिरोमणि अकाली दल पर सवाल उठा दिया.

आनंद ठाकुर यहीं नहीं रुके, उन्होंने हरियाणा में चल रही एनडीए सरकार का भी उदाहरण देते हुए कहा कि हरियाणा में जिस दुष्यंत चौटाला के साथ भाजपा की सरकार चल रही है, वो दुष्यंत भी ओम प्रकाश चौटाला की राजनीतिक विरासत के प्रतीक हैं. राजद नेता आनंद कुमार ठाकुर ने चुनौती भरे लहजे में कहा कि सुशील मोदी में साहस है तो बादल परिवार, पासवान परिवार और चौटाला परिवार पर भी टिप्पणी करके दिखाएं.